कमल के बारे में जानकारी और रोचक तथ्य | Interesting Facts About Lotus in Hindi

lotus flower

कमल हमारे देश भारत का राष्ट्रीय फूल हैं। आज हम आपके लिए कमल के बारे में कुछ रोचक जानकारियां (Information about Lotus in Hindi) लेकर आए हैं। इसके अलावा आज हम कमल से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (Interesting Facts about Lotus in Hindi) भी बतलाने वाले हैं। इस पोस्ट में दी गई जानकारियों की मदद से आप बड़ी ही आसानी से कमल पर निबंध (Essay on Lotus in Hindi) लिख सकते है।

Information about Lotus in Hindi

कमल भारत का राष्ट्रीय फूल है। इसे वैज्ञानिक रूप से नेलुम्बो नुसिफेरा (Nelumbo nucifera) के नाम से जाना जाता है। यह एक पवित्र फूल है और प्राचीन भारत की कला और पौराणिक कथाओं में एक अद्वितीय स्थान रखता है। यह प्राचीन काल से भारतीय संस्कृति का एक शुभ प्रतीक रहा है। यह एक सुंदर फूल है जो दिव्यता, उर्वरता, धन और ज्ञान का प्रतीक है।

कमल के फूल कई रंग के होते है। कमल सफेद, लाल, नीले, गुलाबी और बैंगनी रंग में पाया जाता है। फूल दलदली पानी में बढ़ता है और शानदार खिलने के लिए सतह के ऊपर एक लंबे डंठल पर उगता है।
कमल का तना मांसल और मोटा होता है और इसे प्रकंद कहा जाता है जो जलाशय के तल में कीचड़ में बढ़ता है।
कमल के पत्ते सरल और लगभग गोल होते है। यह डंठल से जुड़े होते है। लंबे, खोखले, हवा से भरे डंठल (पेटियोल) पत्ती को पानी की सतह पर तैरने के लिए सहारा देते हैं। डंठल 100 सेमी तक हो सकता है। पत्तियां प्रकंद के नोड्स से विकसित होती हैं। कमल का फूल एक लंबी, स्पंजी डंठल के साथ छोटे-छोटे स्पाइक्स से ढंका दिखाई देता है।

कमल के फूल, बीज, नए पत्ते और प्रकंद सभी भाग खाद्य हैं। मधुमक्खियाँ कमल के रस से शहद बनाती हैं। यद्यपि कमल को मुख्य रूप से एक सजावटी पौधे के रूप में माना जाता है परन्तु इसके फूलों का उपयोग धार्मिक उद्देश्यों के लिए किया जाता है। इसके कई अन्य उपयोग भी हैं। कमल का उपयोग अनेक तरह की औषधि बनाने में होता हैं। कमल के फूल का उपयोग पुजा, श्रृंगार और सजावट में होता हैं।

एशिया मे पंखुड़ियों को कभी-कभी गार्निश के लिए उपयोग किया जाता है जबकि बड़ी पत्तियों का उपयोग भोजन के लिए एक लपेट के रूप में किया जाता है।

हालांकि यह एक बिल्कुल भारतीय फूल है जो मुख्यतः एशियाई देशों में पाया जाता है। आजकल यह चीन, जापान, ऑस्ट्रेलिया, वियतनाम, मिस्र और उष्णकटिबंधीय अमेरिका आदि देशों में भी पाया जाता है।

राष्ट्रीय फूल के रूप में कमल (Lotus as National Flower)

26 जनवरी 1950 को कमल को भारत के राष्ट्रीय पुष्प के रूप में अपनाया गया था। इस फूल के महान अर्थों और सांस्कृतिक महत्व के कारण भारत के संविधान निर्माणकर्ताओं ने कमल को भारत का राष्ट्रीय पुष्प बनाया। कमल को निम्नलिखित कारणों से राष्ट्रीय फूल घोषित किया गया -
  • यह फूल पवित्रता और सुंदरता का पर्याय माना जाता है।
  • कमल भारतीय संस्कृति का प्रतीक है। प्राचीन पौराणिक कथाओ में कमल का एक महत्वपूर्ण स्थान है।
  • यह फूल कीचड़ में खिलकर भी खुशबू बिखेरता है जो हर मानव को प्रेरित करता है।

कमल का धार्मिक, सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक महत्त्व

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार कमल धन की देवी 'लक्ष्मी' का आसन है। देवी लक्ष्मी कमल के आसन पर विराजमान होती है। कमल कोमलता का प्रतीक है। कमल दिल और दिमाग की शुद्धता का प्रतीक है। इसके फूलों का उपयोग धार्मिक उद्देश्यों के लिए किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि भगवान विष्णु की नाभि से कमल का जन्म हुआ था।

कमल बौद्धों के लिए एक पवित्र फूल है। बौद्ध धर्म में कमल शरीर, वाणी और मन की शुद्धता का प्रतिनिधित्व करता है। कमल का फूल गंदे पानी के ऊपर तैरता है जो लगाव और इच्छा से मनुष्य को दूर रहने का सन्देश देते है।
मिस्र की पौराणिक कथाओं में कमल सूर्य के साथ जुड़ा हुआ है क्योंकि यह दिन में खिलता है और रात में बंद हो जाता है। ऐसा माना जाता है कि कमल ने ही सूर्य को जन्म दिया था।

Interesting facts about Lotus

कमल से सम्बंधित कुछ रोचक तथ्य निम्नलिखित है -
  • कमल को 26 जनवरी, 1950 को भारत के राष्ट्रीय फूल के रुप में अपनाया गया था।
  • भारत के अलावा कमल वियतनाम का राष्ट्रीय फूल भी है।
  • आंखों के विभिन्न रोगों के उपचार के लिए कमल का शहद उपयोगी है।
  • कमल के फूल के खाद्य भागों में नए पत्ते, बीज, प्रकंद और फूल शामिल हैं।
  • औसतन कमल के पौधे की ऊंचाई लगभग 150 सेमी होती है। यह लगभग 3 मीटर क्षैतिज रूप से फैलता है। कुछ लोग कहते हैं कि यह पाँच मीटर से अधिक ऊँचा होता है।
  • कमल के फूल का व्यास 20 सेमी तक हो सकता है जबकि पत्तियों का व्यास लगभग 60 सेमी होता है।
  • पत्तियां अत्यंत जल विकर्षक होती हैं और इनकी सफाई स्वयं हो जाती है। इस घटना को 'कमल प्रभाव' के रूप में जाना जाता है।
  • बौद्ध धर्म में कमल को एक पवित्र फूल माना जाता है।
  • मिस्र में कमल के फूल को शुभ माना जाता है क्योंकि उन्हें सूर्य देव का प्रतीक माना जाता है।
  • पवित्र कमल के फूलों का तापमान 30° C से 35° C (86° F से 95° F) तक रहता है। भले ही उसके आसपास के तापमान में परिवर्तन हो।
  • कमल के फूल का सबसे पुराना बीज एक सूखी झील के तल में पूर्वोत्तर चीन में पाए गया है।

निष्कर्ष (Conclusion)

कमल हमारे देश भारत का राष्ट्रीय फूल है। यह फूल सौंदर्य, दिव्यता, धन, ज्ञान का प्रतीक माना जाता है। ऐतिहासिक और सांस्कृतिक दृष्टि से यह फूल एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। कमल धार्मिक और सांस्कृतिक महत्त्व का फूल है। इसके महान अर्थों और सांस्कृतिक मूल्यों के कारण कमल को भारत का राष्ट्रीय फूल घोषित किया गया। यह कीचड़ में खिलकर अपनी सुगंध बिखेरता है। इसकी सुगंध मनमोहक और दिव्य होती है। कमल का प्रयोग कई रुप में होता है। यह भारतीय संस्कृति के अमूल्य धरोहर का प्रतीक है। 

Comments